भाई बहिन का प्यार

Friday, 5 June 2015

मैं दिल्ली मैं रहती हु। मैं 20 साल की हु। मेरे बोबो का आकार खरबूजो जीतना बड़ा है। और मेरी गांड का आकर भी सामान्य से बहुत बड़ा है।मैं अपनी चूत को हमेशा क्लीन रखती हु और हर दो दिन मैं चूत के बाल कटती हु।मेरा एक भाई है जिसका नाम गौरव है। और वो 10 वी क्लास मैं पड़ता है।
एक दिन मैं बाथरूम मैं अपनी चूत के बाल काट रही थी और मैं बाथरूम का गेट लॉक करना भूल गयी।तभी मेरे भाई ने मेरा गेट खोल दिया और मेरी चूत के दर्शन कर लिए। वो बोला दीदी कम से कम गेट तो लॉक कर लिया 
करो और अपने रूम मैं चला गया । मने जल्दी से अपना गेट लॉक किया और फटाफट चूत के बाल काट लिए। अब मेरे को अपने भाई के पास जाने मैं शर्म आ रही थी। मने सोचा ये बात तो सब जानते है अगर लड़की 20 साल की हो गयी है तो वो अपने चूत के बाल तो कटेगी ही इस मैं गलत क्या है।और वो मेरा भाई ही तो है। अगर उस ने मेरी चूत देख ली तो क्या हो गया कोन सा वो मेरी चूत मार रहा है। अब मैं अपने भाई के कमरे मैं गयी जसे ही मने गेट खोला तो मने देखा की मेरा भाई अपने 6 इंच के लंड को जोर जोर से हिला हिला कर मुठ मार रहा है। मने तो कभी सोचा भी नही था की 10 वी क्लास के लड़के का लंड इतना बड़ा हो सकता है। फिर मने कहा गौरव क्या कर रहा है। उस ने जल्दी से एक तकिया अपने लंड पर रख लिया और बोला कुछ नही। मैं भी वहा से चली गयी। अब रात हो गयी और घर पर कोई नही था सिर्फ मैं और गौरव ही थे।रात को मेरे को डर लगता है तो मैं गौरव के पास ही सो गयी। मने उस से कहा भाई रात को कुछ भी मत हिलाना । गौरव बोला तो आप भी अपना गेट बंद कर के काटा करो । आप को देख के ही मैं एक्साईटेड़ हो गया था। ये सुन के मेरी चूत मैं खुजली चेलने लेग गयी । अब हम दोनों सो रहे थे। लकिन अभी तक मेरे को नींद नाही आ रही थी। थोड़ी देर बाद मेरा भाई मेरी साइड मुड़ता है और उस का हात मेरे बोबो पर आ जाता है। मने उस का हाथ नही हटाया क्यों की मेरे को अच्छा लग रहा था। अब मेरे को महसूस हुआ की वो मेरे बोबो को दबा रहा है। मतलब वो भी जाग रहा था। मने भी उस का विरोध नही किया क्यों की मेरे को भी मज़ा आ रहां था। थोड़ी देर बाद वो मेरे बोबो को और जोर जोर से दबाने लेग गया। अब उस ने एक हाथ मेरी ब्रा के अंदर डाल दिया और मेरी चूची को मसलने लग गया मेरे भी शरीर मैं करंट सा दोड़ रहा था और मज़ा भी आ रहा था।अब उस ने अपना हाथ मेरे बोबो से हटाया और मेरी चूत पे रख दिया। फिर उस ने मेरे पजामे का नाडा खोलने की कोशिस की लकिन उस से नही खुला। तो मने करवट लेने का बहाना क्या । उस ने झट से मेरी चूत पर से हाथ हटा लिया। अब मने अपना नाडा खोल दिया और वापस सीधी हो गयी और इंतजार करने लग गयी। थोड़ी देर बाद उस ने फिर से मेरी चूत प् हाथ रखा। और फिर नाड़े को हाथ से देखा । फिर उस ने धीरे धीरे मेरी चड्डी के अंदर हाथ डाल दिया और मेरी चूत पर हाथ फरने लग गया। अब दुसरे हाथ से वो मेरी टी शर्ट को उपर करने लग गया मने भी हल्का सा उपर हो के उस का साथ दिया। अब मैं उपर से नंगी हो गयी थी। फिर वो मेरी चड्डी और पजामे को खिसकने लेग गया एस बार भी मैं उपर हो गयी अब उस ने मेरे को पूरी नंगी कर दिया । फिर वो मेरे बोबो को चूसने लेग गया। अब हम दोनों ही समझ गये थे की हम जाग रहे है लकिन दोनों ही सोनो की एक्टिंग कर रहे थे फिर उस ने भे अपने पुरे कपडे खोल दिए। और मेरे को धक्का देकर करवट दिला दी। अब मेरी गांड और पीठ भाई की साइड थी अब वो पीछे से मेरे चिपक गया और लंड को गांड के पास और दोनों टांगो के बीच लगा दिया। और चूत मैं घुसाने की कोशिस करने लग गया लकिन घुसा नही पाया क्यों की उस को छेद का सही मालूम नही चल रहा था। फिर उस ने अंगुली से मेरे चूत के छेद को ढूंड लिया और लंड लगा दिया। फिर धीरे धीरे अंदर डालने लेगा। पहले तो थोडा सा घुसा के आगे पीछे करने लगा और फिर मेरे बोबो को भी दबाने लेग गया। मेरे को बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मेने अपनी गांड को और पीछे कर के पूरा लंड अंदर घुसवा लिया। अब मेरा भाई मेरी चूत मैं जोर जोर से झटके देने लग गया। लकिन अभी तक स्पीड नही बनी थी। फिर उस ने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे को सीधा कर दिया। और बेठ गया। अब वो मेरे उपर आया और फिर से लंड मेरी चूत मैं डाल दिया इस बार वो बहुत स्पीड से मेरी चुदाई करने लगा। अब लंड बहुत मोटा था और स्पीड भी तेज़ थी तो मेरे को बहुत मज़ा आने लग गया। और मैं आह्ह आह्ह उफ्फ्फ आअह्ह की आवाजे करने लग गयी। थोड़ी देर बाद उस का वीर्य निकल गया लकिन फिर भी वो झटके पे झटके देता रहा। अब मेरा भी पानी निकल गया। वो झटके ओए झटके देता गया और मेरा पानी निकलता गया। पूरा बिस्तर गिला हो गया। फिर वो वापस झड गया। मेरी और मेरे कपड़ो को ठीक कर के सो गया। हम दोनों थक गये थे तो गिले बिस्तर मैं ही सो गये। ऐसी चुदाई का मज़ा मेरे को पहले कभी नही आया था। अगले दिन सुबह हूँ ने इस बारे मैं कोई बात नही की । सामान्य भाई बहन की तरहा ही रहे। अब जब भी मेरा चुदाई का मन करता है तो मैं अपने भाई से बोलती हु की भाई तू आज मेरे पास सो जाना मेरे को डर लगता है और वो समझ जाता है की आज फिर से बहन की चूत मारनी है।
summery - bhi bahan ka pyar. bhi ne bahan ke fuddi maari. bahan ke chut ka maza raat ko. sleep sex story. sex with sister in night.भाई ने बहन की फुद्दी मारी। बहन की फुद्दी का मज़ा । सोती हुई बहन की चूत मारी।

0 comments:

Post a Comment

  © Marathi Sex stories The Beach by Marathi sex stories2013

Back to TOP